डेबिट और क्रेडिट कार्ड की इन 3 डिटेल्स को रखें राज, ऑनलाइन फ्रॉड से रहेंगे सुरक्षित

RBI ने कुछ दिनों पहले जानकारी दी थी कि वह डिजिटल ट्रांजैक्शन से जुड़े नियमों में जनवरी 2022 से बदलाव करने जा रहा है, ताकि कार्ड डाटा सुरक्षित रहे

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - October 18, 2021 / 06:00 PM IST

ऑनलाइन शॉपिंग में फिर से बूम देखने को मिल रही है. कपड़े से लेकर खाना, राशन जैसी चीजों को घर बैठे खरीदने की सुविधा ने शॉपिंग को आसान बनाया है. हालांकि, अगर आपने सावधानी नहीं बरती तो आपको यह बेहद महंगा भी पड़ सकता है.

रिजर्व बैंक (RBI) ने कुछ दिनों पहले जानकारी दी थी कि वह डिजिटल ट्रांजैक्शन से जुड़े नियमों(digital transaction rules) में जनवरी 2022 से बदलाव करने जा रहा है, ताकि कार्ड डाटा को सुरक्षित रखा जा सके. बैंक ग्राहकों की जानकारी सुरक्षित रखने पर RBI का जोर है.

नया नियम लागू होने के बाद ग्राहकों को हरेक ट्रांजैक्शन के समय कार्ड से जुड़े तीन तरह के नंबर दर्ज करने होंगे – 16 अंकों वाला कार्ड नंबर, तीन अंकों वाला CVV और कार्ड की एक्सपायरी.

रिजर्व बैंक ने ऑनलाइ फ्रॉड घटाने के लक्ष्य से यह कदम उठाया है. इससे पेमेंट गेटवे और ई-कॉमर्स कंपनियां ग्राहकों की कार्ड से जुड़ी जानकारियां अपने सर्वर पर सेव नहीं कर पाएंगी. अगर ऑनलाइन मर्चेंट का सर्वर हैक हो जाता है, तो ऐसे में उनके हाथ ग्राहकों की कोई जानकारी नहीं लगेगी.

पूरी जानकारी के लिए वीडियो देखें.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष