बाजार के Bull Run में Warning Sign से न हटे नजर?

भारतीय बाजार Cyclical Upturn में है और ये बढ़त 3 से 4 साल तक रहती है. लेकिन रिटेल निवेशकों को सावधानी से निवेश करना चाहिए.



भारतीय बाजार में चौतरफा बढ़त रिटेल निवेशकों को अपनी ओर खींच रही है. सवाल ये है कि क्या ये बढ़त टिकी रह सकती है और रिटेल निवेशकों को क्या करना चाहिए? Canara Robeco के इक्विटी हेड श्रीदत्ता भंडवलदार के मुताबिक भारतीय बाजार Cyclical Upturn में है और ये बढ़त 3 से 4 साल तक रहती है. लेकिन रिटेल निवेशकों को सावधानी से निवेश करना चाहिए. डायरेक्ट इक्विटी यानी की स्टॉक्स में निवेश तभी करें जब आप इसकी समझ रखते हों. अगर बाजार की समझ नहीं है तो म्यूचुअल फंड निवेश की शुरूआत करने का बेहतर विकल्प.

रिटेल नेवशक को लंबे समय के लिए निवेश करना चाहिए.कंपाउंडिंग का फायदा लंबे समय के लिए निवेश करने पर ही मिलेगा. केवल 6 महीने के रिटर्न और बाजार क परफॉरमेंस के आधार पर निवेश न करें. श्रीदत्ता भंडवलदार कहते हैं कि तीन साल के लिहाज से बाजार को लेकर Cautious Outlook है. लेकिन लंबे समय के लिए वो पॉजिटीव है. श्रीदता मानते हैं कि जब बाजार में बड़ी करेक्शन तो नहीं आएगी लेकिन 60,000 के आस पास के स्तर पर बाजार consolidate करेंगे.

इस तरह के बाजार में रिटेल निवेशक किन बातों का ख्याल रखें? Canara Robeco के इक्विटी हेड श्रीदत्ता भंडवलदार से पूरी बातचीत इस वीडियो में –

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष