क्या आप Passive Fund में निवेश करना चाहते हैं?

बाजार का बढ़िया रिटर्न पाने के लिए नए निवेशक बाजार में आ रहें हैं और पैसिव फंड निवेश की दुनिया में शुरूआत करने वालों के लिए बढ़िया विकल्प है.



एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड इन इंडिया (AMFI ) के ताजा आंकड़े बता रहे हैं कि घरेलू म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री का नेट AUM (एसेट अंडर मैनेजमेंट) पहली बार 36 लाख करोड़ रुपये से ऊपर निकल गया है, वहीं प्योर इक्विटी में अगस्त के महीने में इन्फोलज कम रहा तो ETF और इंडेक्स फंड ने बढ़त दर्ज की है. इंडेक्स फंड में जुलाई मे 1,110 करोड़ इकठ्ठा किए जो कि अगस्त में 1,934 करोड़ पहुंच गया.

Exchange Traded Funds (ETF) में अगस्त में 11,591 करोड़ इकठ्ठा हुए, जबकि जुलाई में ये आंकड़ा 10,084 करोड़ रहा था. White Oak Capital Management के CEO आशीष पी सोमैय्या बताते हैं कि बाजार का बढ़िया रिटर्न पाने के लिए नए निवेशक बाजार में आ रहें हैं और पैसिव फंड निवेश की दुनिया में शुरुआत करने वालों के लिए बढ़िया विकल्प है.

एक्टिव फंड्स को म्युचूअल फंड कंपनी के मैनेजर अपनी रिसर्च और मार्केट के अनुसार बनाते हैं. पैसिव फंड अपने नाम की तरह ही Passively Managed होते हैं. एक चुने हुए बेंचमार्क इंडेक्स के आधार पर ये फंड काम करते हैं.  इंडेक्स में शामिल शेयरों का जो रेशियो होता है उसी तरह इनमें निवेश होता है.

आशीष कहते हैं कि 500-600 तरह के इक्विटी म्यूचुअल फंड मे से अपने लिए सही फंड चुनने की माथापच्ची से बचना है तो पैसिव फंड आसान हैं.

Passive Funds को आप अपने निवेश का हिस्सा कैसे बनाएं? White Oak Capital Management के CEO आशीष पी सोमैय्या बता रहें हैं इस वीडियो मेंः

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष