बिटकॉइन में कैसे करें निवेश, यहां है पूरी जानकारी

21 जुलाई को चार हफ्तों में पहली बार बिटकॉइन के 30,000 डॉलर से नीचे गिरने के बाद क्रिप्टोकरेंसी बाजार में लगभग 98 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ.



क्रिप्टो निवेशकों का रोजमर्रा का जीवन हममें से बाकी लोगों से अलग है. जबकि एक नियमित निवेशक को केवल अच्छे रिटर्न के बारे में चिंता करने की ज़रूरत होती है, एक क्रिप्टो निवेशक की चिंताएं अधिक होती हैं. वैश्विक बाजार में डिजिटल करेंसीज यकीनन सबसे अस्थिर निवेश उपकरण हैं. कुछ दिन निवेशक बिटकॉइन के बाजार मूल्य से घबराते हैं जबकि अन्य दिन भारत में इसकी वैधता के बारे में सोचने में व्यतीत होते हैं.

21 जुलाई को चार हफ्तों में पहली बार बिटकॉइन के 30,000 डॉलर से नीचे गिरने के बाद क्रिप्टोकरेंसी बाजार में लगभग 98 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ. हालांकि, बाजार दुर्घटना के बाद एक त्वरित रिकवरी हुई.

ज़ेबपे के अविनाश शेखर ने निवेशकों के रुख पर मनी 9 को बताया कि इस तरह के बाजार करेक्शन इस परिसंपत्ति वर्ग के व्यापार चक्र का एक हिस्सा हैं और शिक्षित निवेशक इन अंतर्निहित प्रवृत्तियों से अवगत हैं. उन्होंने आगे कहा कि बिटकॉइन केवल एक दशक पुराना इनोवेशन है और बाजार अंततः स्थिर हो जाएगा.

पिछले एक साल में बिटकॉइन ने 1,200% से अधिक रिटर्न दिया है. लेकिन हालिया क्रैश की वजह अत्यधिक मुनाफावसूली और नियामकीय कठोरता को दिया जा सकता है.

शेखर के मुताबिक, चीन के क्रिप्टो माइनिंग पर बैन लगाने से बाजार हिल गया. क्रिप्टोकरेंसी में SIP इक्विटी के जैसी है. यह क्रिप्टो बाजार में शुरुआती लोगों के लिए एक प्रभावी तरीका है. बिटकॉइन या ईथर में SIP रणनीति लंबी अवधि में काफी प्रभावी होगी. बिटकॉइन और एथेरियम में SIP के लिए Zebb ऐप का इस्तेमाल किया जा सकता है. कई मायनों में, यह भारतीयों को क्रिप्टोकरेंसी के बारे में शिक्षित करने का एक शानदार तरीका हो सकता है.

अधिक जानकारी के लिए पूरा वीडियो देखेंः

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष