गोल बेस्ड निवेश करने से मिलता है बेस्ट रिटर्न, ऐसे होगा फायदा

गोल को लेकर अक्सर लोगों में कंफ्यूजन होता है जबकि जरूरत और चाहत दोनों के बीच अंतर समझना जरूरी है. निवेश करने से पहले लक्ष्य को तय करना जरूरी है.

  • Money9 Hindi
  • Publish Date - September 20, 2021 / 11:41 AM IST


फाइनेंशियल प्‍लानिंग को लेकर अक्सर लोगों के मन में तरह-तरह के सवाल होते हैं. कई लोगों को महत्वपूर्ण जानकारियां तक नहीं मिल पाती हैं. ऐसे में फाइनेंशियल प्‍लानिंग के विभिन्न पहलुओं और महत्व को लेकर फिनवे एफएससी के संस्थापक रचित चावला, सीएफपी पूनम रूंगटा और सूर्य भाटिया इस पर जानकारी दे रहे हैं. गोल बेस्ड निवेश को लेकर पूनम रूंगटा का कहना है कि गोल को लेकर अक्सर लोगों में कंफ्यूजन होता है जबकि जरूरत और चाहत दोनों के बीच अंतर समझना बहुत जरूरी है. लक्ष्य आधारित निवेश करने से पहले लक्ष्य को तय करना जरूरी है. हमने अपने करियर में काफी निवेशकों को देखा है जो अपने गोल को लेकर अक्सर भ्रमित होते हैं. निवेशकों के लिए लक्ष्यों की पहचान करना और उनकी जरूरत व चाहतों के बीच अंतर समझना जरूरी है.

वहीं क्रेडिट स्कोर को लेकर रचित चावला का कहना है कि क्रेडिट स्कोर को सामान्य तौर पर सिबिल कहा जाता है. आज कई कंपनियां ऐसे सिबिल उपलब्ध कराती हैं. यह तीन अंकों का क्रेडिट स्कोर है जो आपको बताता है कि आप समय पर अपने पैसे का भुगतान करने के लिए कितने विश्वसनीय हैं, जो आपने बैंकों से उधार लिया है. जहां सब कुछ डिजिटल होता जा रहा है, ऐसे में अच्छा सिबिल रखने वालों को बेहतर ऑफर मिलते हैं लेकिन क्रेडिट स्कोर खराब है तो शायद 15 फीसदी पर भी बैंक आपको पैसा न दे.

हमें फॉलो करें

(मार्केट अपडेट और जाने अमीर कैसे बने सिर्फ आपके Money9 हिंदी पर)

लेटेस्ट वीडियो

Money9 विशेष