बिजली कटी तो रामू की दुकान पर हुआ एनर्जी वॉर

कमरे में पड़े गुप्ता जी पंखे को ताक रहे थे, दूसरी तरफ से जैसे पंखा एकटक उन्हें घूर रहा था. पसीना गुप्ता जी के सिर से पैर तक बह रहा था.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।    

Insights