रामू की दुकान पर जीडीपी को लेकर गुल्लू और गुप्ता जी का दंगल

बसंत की धूप चुभने लगी है, इसल‍िए रामू की टपरी पर अड्डा सुबह ही जम जाता है. बगल में अखबार दबाये गुल्‍लू टूटी बेंच पर टिके थे तो रामू चाय खौलाने लगा.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।    

Insights