बेताल ने विक्रम को बताया- क्यों लेती है सरकार कर्ज?

विक्रम चाय सुड़क रहा था. आज बेताल की तरफ जाने का मन नहीं था उसका. उधर पेड़ पर टंगा प्रेत दूर से इशारे कर रहा था, विक्रम तुझे आना होगा.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।    

Insights