क्यों अभिशप्त है महाशक्ति की करेंसी?

रुस का अध‍िकांश विदेशी मुद्रा भंडार ज़ब्‍त हो चुका है. अब रुबल को सहारा देने के ल‍िए कुछ नहीं है. बस करेंसी का छापाखाना बचा है.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।    

Insights