वित्त वर्ष 2021-22 के लिए ब्याज दर 8.5 फीसद से घटाकर 8.1 फीसद कर दी गई है. इस फैसले का असर छह करोड़ नौकरीपेशा लोगों को होगा.

पर्सनल फाइनेंस पर ताजा अपडेट के लिए करें।    

Insights